Blog: पशु-पक्षियों से यदि करते हैं प्यार, तो उनके दानापानी का भी रखें ख्याल, मिलेगी मानसिक शांति और ग्रह-दोष से मुक्ति…

Blog: पशु-पक्षियों से यदि करते हैं प्यार, तो उनके दानापानी का भी रखें ख्याल, मिलेगी मानसिक शांति और ग्रह-दोष से मुक्ति…

हम अपने रहने, खाने, पीने और पहनने के लिए रात दिन कितनी मशक्कत करते हैं, लेकिन क्या कभी आपने पक्षियों को भी एक बूंद पानी के लिए मशक्कत करते हुए देखा है ? आज शहरों में आबादी बढ़ने के साथ-साथ पशु-पंछियों के रहने के ठिकाने भी शहरों से कोसों दूर हो गए हैं। जिस वजह से विरान और सुनसान जगहों पर भटकते पंछी और जानवर भूख और प्यास से तड़प-तड़प कर मर जाते हैं। शहरों में भी पर्याप्त दानापानी न मिल पाने के कारण कितने ही पंछी भूख और प्यास के मारे भटकते रहते हैं। कई पंछी ऐसे हैं जिन्हें इंसान के आसपास रहना ही पसंद है वो हमारे घरों के आसपास घूमते हुए नज़र भी आ जाएंगे, उनमें से गोरैया एक है लेकिन वो अब बहुत कम दिखाई देती है।

शहरीकरण और विकास के साथ-साथ हमें ये भी याद रखना चाहिए कि जहां कभी जंगल हुआ करते थे वहां आज हम रह रहे हैं। जानवरों और पक्षियों के रहने के स्थानों को कब हम अपना बनाते चले गए कि हम ये भी भूल गए कि वो कहां रहेंगे?

nuthatch-351395_1280

पशु-पक्षी हमारे जीवन का एक अभिन्न अंग है इसलिए उनके बारे में सोचना भी हमारा कर्तव्य बनता है। धर्म शास्त्रों में भी पशु-पक्षियों की सेवा करने और दाना-पानी खिलाने के बारे में लिखा है। देखा जाए तो इसके ज्योतिषीय लाभ भी हैं। मुझे लगता है कि आज के समय में यदि कोई काम लाभ के साथ जोड़ दिया जाए तो हम उसे बाखूबी करते हैं, लेकिन यहां ये बात सच है कि पशु-पक्षियों, पेड़-पौधों की सेवा से हमें मानसिक शांति, स्वास्थ्य लाभ व ग्रह दोषों से छुटकारा मिलता है। ये माना जाता है कि पशु-पक्षियों को दाना पानी खिलाने से जहां पुण्य की प्राप्ति होती है तो वहीं मनुष्य ईश्वरीय कृपा का पात्र भी बनता है। मनुष्य के जीवन में आने वाली कठिनाईयां भी दूर होती हैं।

आज हम बात पक्षियों की कर रहें हैं, तो ये भी जान लें कि पक्षियों को दाना-पानी डालने से हमारे जीवन पर चमत्कारिक प्रभाव पड़ते हैं। जिससे पारिवारिक कलह, स्वास्थ्य लाभ व जीवन से कष्टों को दूर किया जा सकता है व ग्रहों के अनिष्ट फल से भी मुक्ति मिलती है।

ज्योतिषीय दृष्टि से यदि देखें तो इसके कई प्रकार से लाभ मिलते हैं, आइए जानते हैः-

कुंडली में यदि राहु-केतु की दशा चल रही हो तो पशु-पक्षियों को बाजरा डालना चाहिए। शुक्र ग्रह से यदि नुकसान हो रहा हो तो पशु-पक्षियों को ज्वार खिलाएं और यदि सूर्य से हो तो गेहूं खिलाएं। चावल डालने से मानसिक परेशानियों से निजात मिलती है। मूंग की दाल से बुध ग्रह से मिलने वाली परेशानियों से बचा जा सकता है। चने की दाल से गुरू ग्रह को प्रसन्न किया जा सकता है। गिलहरियों को बाजरा, बिस्किट व रोटी दि खिलाने से जीवन में आने वाली कठिनाईयों से बचा जा सकता है तो वहीं चींटियों को पंजीरी, शक्कर या बेसन के लड्डू खिलाने से स्वास्थ्य लाभ के साथ मानसिक शांति भी मिलती है।

starling-4194921_1280

है न ये चमत्कारी लाभ ? इन छोटे-छोटे जीव-जन्तुओं को दानापानी खिलाना कितना लाभकारी है और उससे बढ़कर हमारा कर्तव्य भी।

 

संपादक- मनुस्मृति लखोत्रा

Image courtesy- Pixabay

Leave a Reply

Close Menu
error: Content is protected !!