Happiness is Fee :  क्या SOULMATE के साथ हमारा जन्मों का रिश्ता होता है? क्या लाइफ पार्टनर को ही सोलमेट कहते हैं ? अपने सोलमेट को कैसे पहचानें ? जानिए लक्षण !

Happiness is Fee : क्या SOULMATE के साथ हमारा जन्मों का रिश्ता होता है? क्या लाइफ पार्टनर को ही सोलमेट कहते हैं ? अपने सोलमेट को कैसे पहचानें ? जानिए लक्षण !

‘खुश रहो ज़िंदगी’ कॉलमः- लोग अक्सर लाइफ पार्टनर और सोलमेट में अंतर को पहचान नहीं पाते, लेकिन ये भी हो सकता है कि आपका लाइफ पार्टनर ही आपका सोलमेट हो लेकिन हर कोई इतना खुशकिस्मत नहीं होता कि उसका सोलमेट ही उसे लाइफपार्टनर के रूप में मिल जाए। लेकिन पहले ये जान लेना ज़रूरी है कि सोलमेट और लाइफ पार्टनर में फर्क क्या होता है। दरअसल ऐसा कोई शख्स जो आपकी ज़िंदगी में अचानक ही आ जाए और जिसे देखकर आपको ऐसा लगे कि आप तो इसे पहले से ही जानते हैं और उससे मिलते ही आपकी अच्छी दोस्ती हो जाए, उसकी बातों से आपको प्रेरणा या कोई सीख मिले…उसके और आपके बचपन की कहानियां एक जैसी हों…आप एक-दूसरे से आकर्षित हो जाएं और आपको लगने लगे कि जिसकी आपको तलाश थी ये वही है…। तो वहीं लाइफ पार्टनर वो शख्स होता है जिसके साथ आप उम्र भर साथ रहने का विचार रखते हैं और आपके मुश्किल समय में आपके काम आता है। जीवनसाथी के साथ ज़िंदगी की राह आसान होती है, और अगर सोलमेट के साथ ही आपकी शादी भी हो जाए तो ये साथ सच में ही जन्म-जन्म का होता है।

1486212096016
Manusmriti Lakhotra,
Writer & Editor -https://theworldofspiritual.com

आइए कुछ लक्ष्णों से सोलमेट को पहचानने की कोशिश करते हैंः

जैसा कि नाम से ही पता चलता है कि सोलमेट यानि आत्मा का साथी। ऐसा कोई शख्स जिसके साथ आपका कोई रिश्ता भी नहीं होता लेकिन आपको दिल से उसके लिए फीलिंग आती है कि वो मेरे साथ है, जब आप दोनों एक दूसरे के साथ होते हैं तो दिल से खुशी महसूस करते हैं, एक-दूसरे का साथ और ज्यादा सा ज्यादा एक-दूसरे के साथ वक्त बिताना पसंद करते हैं। इमोशनली एक-दूसरे के साथ जुड़े होते हैं। कई बार ऐसा भी होता है कि पिछले जन्म में जिससे आपको सबसे ज्यादा सहयोग, प्यार और समर्थन मिला हो ज्यादा चांसेज़ रहते हैं कि वो भी इस जन्म में लाइफ पार्टनर के रूप में आपकी ज़िंदगी में आता है।

सोलमेट सिर्फ वही नहीं होता जिससे आपके प्रेम संबंध हो या आपका लाइफ पार्टनर हो…सोलमेट आपकी मम्मी, पापा, आपका कोई सबसे अच्छा दोस्त या आपका कोई रिश्तेदार भी हो सकता है जो आपको बखूबी जानता हो, जो आपके बिना कहे आपको समझ जाए, जो आपका कभी दिल न दुखाए बल्कि मुश्किल समय में भी साथ निभाए। जिसके साथ बात करके आपको ऐसा लगे कि मेरी हर मुश्किल का हल इसके ही पास है।सोलमेट आपकी ज़िंदगी में किसी न किसी रूप में आते ज़रूर हैं और कुछ समय बाद अपने आप आपकी ज़िंदगी से चले भी जाते हैं। कई बार तो आपके मुश्किल समय में अचानक से किसी का आ जाना और आपका काम पूरा होते ही अचानक से आपकी ज़िंदगी से चले जाना अगर ऐसा कोई है तो वो आपका सोलमेट ही था या थी जो बहुत ही कम समय के लिए आपको प्रेरणा देने, सही रास्ता दिखाने या मुश्किल समय से उबारने के लिए आपके जीवन में आया या आयी थी और काम पूरा होते ही चला गया।

couple-168191_1920

सच्चे सोलमेट वही होते हैं जो लड़ाई-झगड़े के बाद भी एक-दूसरे का साथ न छोड़े, एक-दूसरे की बात को समझे। आप उससे अपनी हर बात शेयर करते हों, अपनी कोई भी समस्या उनसे छुपाएं नहीं बल्कि उसके साथ सांझा करने में विश्वास रखते हों। उनके साथ रिश्ते में खटास आने पर भी आप उनका साथ न छोड़ना चाहते हों और हर हाल में उनके साथ रहने में ही खुशी महसूस करते हों। उनका साथ ही आपके लिए काफी होता है आप उनका कभी फायदा नहीं उठाना चाहते बल्कि उनके साथ समर्पण वाली भावना ही होती है। उनके साथ आप सुरक्षित महसूस करते हैं, किसी भी तरह का डर उनके पास होने पर नहीं सताता।ऐसा साथी जिसका ख्याल हर वक्त आपके दिलो-दीमाग में घूमता हो, ऐसी फीलिंग प्यार में भी होती है लेकिन अगर अपने सोलमट के साथ प्यार परवान चढ़ जाए तो फिर क्या कहने?

आप अपने सोलमेट की बातों और दीमाग से हमेशा इम्प्रेस रहते हैं। आप दोनों का दीमागी कनेक्शन इतना स्ट्रॉंग होता है कि जब आप उसे याद करते हैं उसकी कॉल या मैसेज आ जाता है या आपकी तबीयत खराब हो और उसे अचानक पता चल जाता है कि आपके साथ कुछ ठीक नहीं हो रहा है। इसलिए तो कई बार आपने कईयों को कहते सुना होगा कि मेरा उनके साथ दिल से ज्यादा आत्मा का रिश्ता है। सोलमेट के साथ आपकी बाउंडिंग इस क़दर होती है कि उनके बिना आप अपनी लाइफ इमेजिन भी नहीं कर सकते।

Image courtesy- Pixabay

Leave a Reply

Close Menu
error: Content is protected !!