Happiness is Free: इसबार कह ही दीजिए कि “मुझे तुमसे प्यार है”, लेकिन क्या आप जानते हैं प्यार के लिए दिल से ज्यादा दिमाग ज़िम्मेदार है, जानिए कैसे ?

Happiness is Free: इसबार कह ही दीजिए कि “मुझे तुमसे प्यार है”, लेकिन क्या आप जानते हैं प्यार के लिए दिल से ज्यादा दिमाग ज़िम्मेदार है, जानिए कैसे ?

अगर किसी से प्यार है तो क्यों न इज़हार किया जाए…जनाब ज़िंदगी बहुत छोटी है और वक्त बहुत कम, इसलिए जिसे चाहो उसे अपने दिल का हाल सुना देने में हर्ज़ ही क्या है? ज्यादा से ज्यादा क्या होगा अगर सामने वाला आपसे प्यार करता होगा तो हां कर देगा नहीं तो न सुनने में भी क्या बुराई है….ज़िंदगी वहीं तो नहीं रुक जाएगी…शायद उससे बेहतर ही कोई आपकी ज़िंदगी में आने वाला हो….खैर, यही सोचकर दिल को तसल्ली तो मिल जाएगी…for more information please see this full video & visit, share & like my YouTube channel, & Website Thanks & Regards Your’s Manusmriti Lakhotra

Leave a Reply

Close Menu
error: Content is protected !!